Category Archives: विकास योजनाएं

मनरेगा कार्यों के लिये सामग्री व्यवस्थापन नीति में बदलाव की आवश्यकता

केवल राजस्थान में ही मनरेगा योजना के लिये 3.4 करोड़ सीमेंट के कट्टे और 8 करोड़ किलो स्टील सरिया प्रतिवर्ष खरीदा जाना अनुमानित है जिसे पंचायतवार बिलौचियों के माध्यम से न खरीद कर राज्य स्तर पर सीधा निर्माताओं से खरीदा … Continue reading

Posted in विकास योजनाएं, हिंदी प्रभाग (Hindi Section) | Tagged , , | 1 Comment

“विश्व शौचालय दिवस – 19 नवम्बर” – भारत में उपेक्षित क्यों ?

संयुक्त राष्ट्र संघ ने अच्छे स्वास्थ्य के लिये शौचालय की महत्ता की ओर ध्यान आकर्षित करने के उद्देश्य से प्रति वर्ष 19 नवम्बर को “विश्व  शौचालय  दिवस” मनाने का एक प्रस्ताव पारित किया है। विश्व बैंक की एक रिपोर्ट के अनुसार … Continue reading

Posted in नगरीय विकास, पर्यावरण, विकास योजनाएं, स्वास्थ्य, हिंदी प्रभाग (Hindi Section) | Tagged , , , , , , , | Leave a comment

स्थानीय विकास में जन भागीदारी सुनिश्चित कैसे हो ?

स्थानीय विकास की परियोजनाएं कम से कम लागत में अपने लक्ष्य को प्राप्त करें, पूर्व निर्धारित अवधि में पूरी हों, चाहे गए परिणाम दें, दीर्घकाल तक उपयोगी रहें, संचालन सुगम हो इनके कुप्रभाव न्यूनतम हों इसके लिये इनकी परिकल्पना से … Continue reading

Posted in अपना उदयपुर, नगरीय विकास, विकास योजनाएं, हिंदी प्रभाग (Hindi Section) | Tagged , , , , , | Leave a comment

आवश्यक है विकास कार्यों में लागत नियंत्रण और घोषित लाभों के लिये सजगता

सामान्यतः विकास कार्यों के प्रस्ताव किसी जन समस्या के निदान के लिये बनाए जाते हैं और इनका उद्देश्य प्रासंगिक समस्या का निदान करना होता है। देखा यह जा रहा है कि विकास कार्यों के प्रस्ताव बनाते समय लागत नियंत्रण पर … Continue reading

Posted in अपना उदयपुर, जल प्रबंधन, नगरीय विकास, विकास योजनाएं, हिंदी प्रभाग (Hindi Section) | Tagged , , , , , | 2 Comments

एनिकटों के निर्माण के प्रति सजगता की आवश्यकता

– डी. डी. देराश्री राजस्थान राज्य में सिंचाई विभाग, वन विभाग, भू-संरक्षण विभाग, ज़िला परिषदों, पंचायतों आदि द्वारा सतही जल के संरक्षण (वॉटर हारवेस्टिंग) हेतु एनिकट बनाये जाते हैं। देखने में यह आया है कि इनके अनियोजित निर्माण से कई … Continue reading

Posted in अपना राजस्थान, जल प्रबंधन, विकास योजनाएं | Tagged , , , , , , , | Leave a comment

विकास कार्य और गांधीवाद

विकास कार्यों के निष्पादन मे विगत कुछ वर्षों से मानव श्रम के स्थान पर मशीनों से खुदाई करने, मसाला व गिट्टी मिलाने की परिपाटी बढ़ रही है और परम्परागत रूप से अपनायी जाने वाली निर्माण विधियाँ, जैसे चूना मसाले में … Continue reading

Posted in विकास योजनाएं | Tagged , , , , , , , | Leave a comment

उदयपुर की आयड़ नदी – सुरम्य कैसे हो ?

उदयपुर नगर अपनी झीलों, बगीचों, पुरानिर्माणों, समशीतोष्ण मौसम, गौरवमयी इतिहास, आत्मसम्मान के लिये संघर्षरत रहने की परम्परा आदि के लिये विख्यात है। पर्यटकों की इस नगरी का आकर्षण और बढ़ाने के लिये लगातार प्रयास हो रहे हैं और आयड़ नदी … Continue reading

Posted in अपना उदयपुर, विकास योजनाएं | Tagged , , , | Leave a comment